Sawan Mein Lag Gayi Aag Ke Dil Mera Haaye - Mika Singh, Neha Kakkar, Badshah | Lyrics | Mp3 Download

Title Name  - Sawan Mein Lag Gayi Aag  Movie - Ginny Weds Sunny Cast/Starring - Yami, Vikrant Singer Name - Mika Singh, Neha Kakk...

Hindi Grammar Me Upyog Hone Wali Paribhashayen | Read in Hindi

हिंदी व्याकरण में उपयोग होने वाले तत्वों की परिभाषायें 


भाषा की परिभाषा 

जिसके युक्ति के द्वारा मनुष्य बोलकर, सुनकर, लिखकर व पढ़कर अपने मन के भावों या विचारों का आदान-प्रदान या व्यक्त करता है। उसे भाषा कहते है. 

व्याकरण की परिभाषा 

भाषा के जिन नियमों को एक साथ जिस शास्त्र के अंतर्गत अध्ययन किया जाता है उस शास्त्र को व्याकरण कहते हैं।

वर्ण की परिभाषा 

जिसके खंड या टुकड़े नहीं किये जा सकते हों उस मूल ध्वनि को वर्ण कहते हैं, 
जैसे- अ, ई, व, च, क, ख् इत्यादि हो सकते हैं।

वर्णमाला की परिभाषा 

वर्णों के समूह को वर्णमाला कहते हैं।

शब्द कि परिभाषा 

वर्णों या ध्वनियों के सार्थक मेल को 'शब्द' कहते है। जिसका कोई न कोई अर्थ अवश्य हो। 
या दो या दो से अधिक वर्णो के समूह जो किसी अर्थ को व्यक्त करे शब्द कहलाता है। 

वाक्य की परिभाषा 

वह शब्द समूह जिससे पूरी बात को समझा या समझाया जा सके, वाक्य' कहलाता हैै।

संज्ञा की परिभाषा  

किसी प्राणी, वस्तु, स्थान, गुण या भाव के नाम को संज्ञा कहते है।
जैसे - मनुष्य , शहडोल, अच्छा , और वीरता।

सर्वनाम की परिभाषा 

संज्ञा के स्थान पर उपयोग आने वाले शब्दों को सर्वनाम कहते हैं।
जैसे - मै, तू, वह, आप, कोई, इत्यादि। 

क्रिया की परिभाषा 

जिस शब्द से किसी काम का करना या होना समझा जाय, उसे क्रिया कहते है। 
जैसे- पढ़ना, खाना, लिखना, हसना, इत्यादि।


काल की परिभाषा 

क्रिया के जिस रूप से कार्य करने या होने के समय होता है उसे 'काल' कहते है। 
जैसे-
मैं सो रहा हु , मै सोया था , मैं सोऊंगा 


विशेषण की परिभाषा 

जो शब्द संज्ञा या सर्वनाम शब्द की विशेषता बताते है उन्हें विशेषण कहते है। 
जैसे- यह काली गाय है, गुलाब लाल है 
उपयुक्त वाक्यों में 'काली' और 'लाल' शब्द गाय और गुलाब (संज्ञा)की विशेषता बता रहे है।

अव्यय' कि परिभाषा 

ऐसे जिसके रूप में लिंग, वचन, पुरुष, कारक इत्यादि के कारण कोई विकार उत्पत्र नही होता। ऐसे शब्द हर स्थिति में अपने मूलरूप में बने रहते है। लिंग कहलाते है 
जैसे- जब, तब, अभी, उधर, वहाँ, इधर, कब, क्यों, वाह, इत्यादि।

लिंग की परिभाषा 

शब्दों के जिस रूप से उसके पुरुष या स्त्री जाति होने का पता चलता है, उसे लिंग कहते है।

उपसर्ग की परिभाषा 

वह शब्द जो किसी शब्द के आरंभ में जुड़कर उसका अर्थ ही बदल दे।'' वे उपसर्ग कहलाते है।
जैसे- प्रसिद्ध, अभिमान, विनाश, उपकार।




No comments:

Post a comment